जिस पर कृपा राम करें वो पत्थर भी तर जाते हैं

जिस पर कृपा राम करें वो पत्थर भी तर जाते हैं

Spread the love

फरीदाबाद | कल रात विजय रामलीला कमेटी के इतिहासिक और पौराणिक मंच पर प्रथम दृश्य में लंका के राज्य से से विभीषण (वैभव लड़ोइया) को देश निकाला दिया गया। विभीषण  राम जी की शरण मे आये जहाँ राम जी ने उनका राज तिलक कर उसको लंकापति घोषित किया उसके बाद हनुमान जी ने पत्थर पर राम नाम अंकित किया और उन पत्थरों से नल नील द्वारा सेतु बांधा गया जिस पर चढ़ कर सेना सहित राम दल ने लंका पर चढ़ाई की। शहर की विधायिका श्री मति सीमा त्रिखा (बड़खल विधान सभा) भी पोहंची कल विजय रामलीला के मंच पर भगवान राम से आशीर्वाद लेने और कमेटी ने उनके भावों का अभिनंदन कर मंच पर स्वागत किया। अगले दृश्य में मंदोदरी(मनोज शर्मा) ने रावण (टेकचंद नागपाल) को युद्ध ना करने की सलाह दी और कहा की सीता को वापिस लौटा दें जिस पर रावण क्रोधित हो उठा।  श्री राम ने मर्यादा रखते हुए युद्धनीति के नियमों का पालन किया और बाली पुत्र अंगद को दूत बना कर रावण के दरबार में भेजा। अंगद बने गर्वित ने किया दमदार सम्वाद वहीं दूसरी ओर रावण बने टेकचन्द ने भी नहीं छोड़ी कोई कसर। दोनो के बीच डॉयलोग्स पर बजी ज़ोरदार तालियां। आज इसी मंच पर दिखाई जाएगी लक्ष्मण मूर्छा और महाबलशाली कुंभकर्ण का वध।

  • Table Of Contents

Faridabad Darshan

Tech Behind It provides latest news updates on the topics like Technology, Business, Entertainment, Marketing, Automotive, Education, Health, Travel, Gaming, etc around the world. Read the articles and stay Updated. We are committed to provide knowledable articles.

You May Also Like
Join the discussion!